Dams · India Rivers Week

भारतीय नदी दिवस 2017 – नदियों के संरक्षण का अभिनव प्रयास

देश की नदियों की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। एक ओर नदियों का जलप्रवाह लगातार घट रहा है, दूसरी ओर उनमें प्रदूषण की मात्रा चिंताजनक स्तर पर पहुॅच गई है। बढ़ती बॉध, पनबिजली, सिंचाई परियोजनाओं, भूजल दोहन, वनविनाश, बाढ़ भूमि अतिक्रमण और अवैध खनन से हमारी नदियों की जैवविविधता पर विपरीत प्रभाव सामने आ रहे हैं। साथ में नदियों पर गुजर बसर करने वाले मछवारों, मल्लाहों, किसानों की आजीविका पर गंभीर खतरा मंडरा रहा है।

इन सबके बीच, नदियों को बचाने के सरकारी प्रयास नाकेवल नाकाफी और निष्फल साबित हो रहे है, अपितु अब यह स्पष्ट है कि नदी विरोधी सरकारी योजनाओं के चलते ही छोटी बडी जलधाराएॅ सूख रही है, मैला हो रही है और बाढ़ के समय आपदा का कारण भी बन रही है। वास्तव में नदी संरक्षण संबंधी नियम कानूनों और व्यापक जनभागीदारी के अभाव के चलते आज हमारी जीवनदायनी नदियॉ, खुद के स्वछंद बहते जल को तरस रही है। 

इन्हीं सब महत्वपूर्ण मुद्दों को उजागर करने के लिए 25 नवम्बर 2017 को दिल्ली भारतीय नदी दिवस[1] समारोह आयोजित किया गया। इस बार के एक दिवसीय आयोजन में शहरी नदियों को केंद्र में रखकर मनाया गया। कार्यक्रम में भारत के विभिन्न क्षेत्रों से अस्सी से अधिक सरकारी विभागों -गैरसरकारी संस्थाओं से जुडे़ नदीप्रेमियों, चितंको और विचारकों ने भाग किया। यह कार्यक्रम वर्ष 2014 से निरंतर मनाया जा रहा है। हर साल की तरह, इस बार भी देश में नदियों को बचाने में संघर्षरत व्यक्तियों और नदी संगठनों को ‘भगीरथ प्रयास सम्मान’[2]  से नवाजा गया। प्रभावी नदी लेखन, छायांकन और चित्रण के माध्यम से नदियों की आवाज उठाने वाले मीडियाकर्मी के लिए, इस साल से अनुपम मिश्र[3] मैमोरियल मैडल का शुभांरभ  किया गया।  

Continue reading “भारतीय नदी दिवस 2017 – नदियों के संरक्षण का अभिनव प्रयास”

Dams · DRP News Bulletin

DRP News Bulletin 27 November 2017 (India Rivers Day 2017: There Is Hope For Restoring Urban Rivers)

From left Arti Kumar Rao, winner of first ever Anupam Misra Memorial Award, Mahavir Singh Sukarlai, of Prayavaran Kisan Sanghrash Samiti, Pali; Winner of BPS 2017 in individual category and S. Ramachandran and Eby Emmaunuel of Meenachil Nadee Samrakshana Samithi, Kerala; Winner of BPS 2017 in organization category. 

The eventful India Rivers Day (IRD) has just concluded. It was held on 25 November 2017 at INTACH Delhi office. The theme for this year was ‘Rivers in the Urban Context’. An exhibition on the issue is open till December 01, 2017. https://sandrp.wordpress.com/2017/11/26/exhibition-on-indias-urban-rivers-at-india-rivers-day-2017/

The program started with the welcome address by Manoj Misra. It was followed by an introductory speech on the theme by Himanshu Thakkar of SANDRP in which he described the deteriorating relationships between urban rivers and citizens and how urban areas are treating their rivers as parasite.

In the key note address by Dr. Ravi Chopra of PSI threw light on the lost, ignored and abused rivers in Delhi, Mumbai, Dehradun and Chennai.

Continue reading “DRP News Bulletin 27 November 2017 (India Rivers Day 2017: There Is Hope For Restoring Urban Rivers)”